दिल बेचारा Review: दमदार एक्टिंग से फैन्स को उन्हें हंसते हुए याद रखने का संदेश दे गए

By moGossip Team Jul 25, 2020  

By @moGossip.com

'एक था राजा एक थी रानी दोनों मर गए खत्म कहानी' ये है फिल्म 'दिल बेचारा' की कहानी.

सुशांत सिंह राजपूत: एमैनुएल राजकुमार जूनियर उर्फ मैनी
संजना सांघी: किज्जी बासु
सैफ अली खान: आफताब खान
निर्देशक: मुकेश छाबरा
पटकथा: शशांक खेतान और सुप्रोतिम सेनगुप्ता
संगीतकार: ए. आर. रहमान

सुशांत सिंह राजपूत अब इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उनकी आखिरी फिल्म 'दिल बेचारा' रिलीज हो गई है। फैन्स को सुशांत की इस फिल्म का बेसब्री से इंतजार था। यह फिल्म इंग्लिश नॉवल और फिल्म 'द फॉल्ट इन ऑवर स्टार्स' पर बनाई गई है। सुशांत ने अपनी सारी फिल्में जिंदादिली वाली की हैं और यह फिल्म भी उससे अलग नहीं है। अगर आप फिल्म की कहानी जानते हैं तो फिर भी यह देखने लायक है।

'Ek Tha Raja Ek Thi Rani '... ye baat apne kabhi na kabhi kisi se jarur suni hogi.'Dil Bechara' film ki kahani isi per buni gyi hai. Jo kai saare utar-chav se gujarte hue zindegi ke mayne, jeene ka tarika sikhati hai. Ab aap ise mukesh chabra aur Sanjana Sanghi ki debut film kahiye ya phir sushant singh ki aakhri film 'Dil Bechara' aakhirkaar apne logo tak pahuch hi gyi.

बतौर निर्देशक मुकेश छाबड़ा ने बेहतरीन काम किया है। ज़िंदगी-मौत के फलसफे पर गढ़ी कहानी को भारी नहीं होने दिया। फिल्म के फर्स्‍ट हाफ में हंसते-खिलखिलाते निकल जाता है, सेकेंड हाफ में अचानक सिचुएशन बदल जाती है।

एक बार फिर रुला गए सुशांत 

मैनी किज्जी को खुश करते-करते खुद ही मौत से जा मिलता है. लेकिन इस फिल्म का अंत गहरी उदासी के साथ एक सरप्राइज भी देती है, लेकिन इसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

Yeh Film emotional roller coaster ride jesi hai. kyuki yeh film apko hasayegi bhi... utna rulayegi bhi... film ki cinematography kamal ki hai. Jamshedpur se lekar paris tak ka safar kafi acche tarike se dikhaya gaya hai. 

मैनी के किरदार में सुशांत जबरदस्त रहे हैं। मैनी के किरदार के हर रंग को फिल्‍म ने बखूबी द‍िखाया है। किज़ी बनी संजना सांघी की बात करें, तो उनकी ये पहली फिल्‍म है, लेकिन अपने किरदार को काफी अच्छी तरह निभा गई हैं। वहीं स्‍वास्तिका मुखर्जी, किज़ी के मां के किरदार में काफी अच्‍छी लगी हैं। किज़ी के पिता बने साश्वत चटर्जी ने भी बिंदास पिता की भूमिका शानदार तरीके से निभाई। अभिमन्यु वीर सिंह बने सैफ अली खान बद्तमीज़ और अक्खड़ व्यक्ति के किरदार में नज़र आए। दो मिनट में ही उन्होंने अपना रंग जमा दिया।

Music

Film ka hr gaana dil ko chu lene wala hai. kafi touchee aur emotional gaano ke sath yeh kahani kafi sehjta se aage badhti jati hai. Kahani ke sath hr gaana accha support dene wala hai. 

अपनी आखिरी फिल्म के आखिरी सीन में भी सुशांत ने अपने फैन्स को उन्हें हंसते हुए याद रखने का संदेश दे दिया है। यह फिल्म सुशांत के लिए सच्ची श्रद्धांजलि है इसलिए मिस न करें।

@moGossip.com

moGossip is all about hatke gossips - videos, articles and blogs. The platform had steadily over the years played a key role in bringing the word gossip out of the closet of being looked upon more from a negative connotation or just one dimension that is all about being frivolous. Gossip is surely about casual and buzzing talks from across genres, especially entertainment, politics, business and economy, sports etc. however it is much more.
At moGossip.com, it is also to write and talk about inspiring work being driven by many from different walks of life -the social sector, individuals and institutions. It’s also about news; achievements and information that needs and should to be talked about- chatted or paid attention too. Also any concerning issue which is not being discussed but needs attention.