लाइफ आंड इट्स #गॉसिप

February 28, 2018 by Sumit Tyagi moGossip articles

Success, Power, Status , Fame , Luxirious lifestyle   सब यही रह जाता है अंत मे फाइनल journey भी एम्बुलेंस मे होती है और ज़िन्दगी भर हम BMWस और SUV.मे ट्रेवल करते है ....जो रह जाता है, वो है इंसानियत, प्यार- मोहब्बत, कुछ कार्मिक एकाउंट्स  ...मगर फिर भी मैनेजमेंट की कितiबे हम म 'Games People Play' मे निपुण बनती है...

 

एक्सप्लाय्टेशन , भावनाओ से खेलना, . , सच का झूट और झूट का सच- इसी मे ज़िंदगी गुज़र जाती उपर से नीचे तक के लोगो मे ..स्पीड रफ़्तार कौन कितने जल्दी करोड़पति बन सकता है और luxirious ज़िन्दगी बिता सकता है, बस यही रह गया है .....

 

नेटवर्क, अंडर दा टेबल या ओवर दा टेबल के बिना अगर क्रेडिबिलिटी ओर मेरिट  पर बिना नखरे और ड्रामा के अगर आप सफल हो जाते है तो उसका कोई मान नही है ....सिंप्लिसिटी और विनम्रता से मिली सक्सेस का  इस्तकबाल- डाउट और manupilation और  oversmartness से होता है पर  न्यूज़ पेपर मे इंटरव्यू मेसेजिंग  होती  है  ...की  . . लोग अब मिलते कहा है - जो हैं उनको तो मैनेज करना सीक लो Ladies and Gentlemen.

 

रिलेशनशिप्स, प्यार, मोहब्बत  सब  एक  दिन  में  होता  है i और  एक  दिन  में  ही  खत्म हो  जाता  है i  ....ऐसा  मेरा  प्यार  है  .....हम  अब  15 और 20 साल  के  बाद  तलाक  लेते  है  ....क्योकि  we do not want to live a suffocated or artificial life par फेसबुक  हैप्पी  अनिवर्सरी  विश  करना  realism है  ....डाउट  अपने  पे  है i या  दुसरे  पर  ये  तो  खुद  को  समझना  पड़ेगा ....SIR ji ...

 

हम जीतने ही डेवेलप्ड ओर फ्री हो रहे है क्या हम उतने ही संकीर्ण सोच वाले और कमज़ोर होते जा रहे है ?....वरना हमें  फ़ेसबुक और सोशल मीडिया ऐसे पागल ना करता ....हमें बाहरी समर्थन ओर इतना वाहवाही लूटने का पागलपन सवार ना होता ….

 

फेमिली और भक्ति के नाम पे इतना transactional और commercial दृष्टिकोण हमें किस और ले जा रहा है ये जब तक हम समझेगे; तब तक ये ज़िंदगी ओर ये यूनिवर्स अपना काम कर चुका होगा …Madam ji.

 

जब सोशल मीडिया में इमोशन की नुमाईश होने लगे और किसी की death भी एक business opportunity बन जाती है तो हमें समझना पड़ेगा की हम इंसानियत और ज़िन्दगी से कितने पास या दूर चले गए है .

 

हम कितने खुश है, ये अगर materilistic चीज़े फैसला करती है, तो फिर हम मानसिक शांति  और प्रकृति की ओर क्यों आकर्षित होते है  ...हम आज गांव और खेती को ख़त्म करके, क्यो आज earthyliving aur organic food  या मिट्टी के घरों के रिसॉर्ट्स पे हज़ारो -लाखो खर्च करते है.

 

इस कलयुग के राज मे नही मान है 'ज़िन्दगी' …..

कूच तो हमारी  मजबूरी थी , कूच ज़माने की साजिश

हम आपको और आप हमे न समझ पाए ki "Simplicity thy name is LIFE'...

Max 150 Characters




Gossips

  • Saudi Women Are Set To Fly, Kingdom Will Train Female Pilots In Academy

    Saudi Women Are Set To Fly, Kingdom Will Train Female Pilots In Academy

    July 18, 2018 moGossip
  • Zombieland 2 is happening 10 years after original film

    Zombieland 2 is happening 10 years after original film

    July 18, 2018 moGossip
  • Evan Rachel Wood, Sterling K Brown in talks for Frozen 2

    Evan Rachel Wood, Sterling K Brown in talks for Frozen 2

    July 18, 2018 moGossip

FOLLOW US ON Social Network

Subscribe to our Newsletters

By subscribing You will recieve our latest news. Your information will not be shared with anyone.


👍 Gear Success !

Everything went well, You are now subscribed !

Oops!

You made a little error here !

Loading!

This may take a few seconds !

Latest Photo Galleries